भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग ने नवंबर में बनाया रिकॉर्ड, सबसे अधिक बिक्री

देश की अटैचमेंट इंडस्ट्री ने नवंबर के महीने में अभी तक की सबसे अधिक सेल्स दर्ज की हैं। इस साल-दर-साल पर 26 साल की वजह है। पिछले महीने व्हीकल्स की सभी कैटेगरी में सेल्स मिलती हैं। इनमें से दो-पहिया, तीन-पहिया, यात्री वाहन, ट्रैक्टर और वाणिज्यिक वाहन शामिल हैं।

टू-व्हीलर की बिक्री में 24 प्रतिशत, तीन-व्हीलर में 80 प्रतिशत, यात्री वाहनों में 21 प्रतिशत, ट्रैक्टर में लगभग 57 प्रतिशत और कमर्शियल वाहनों की बिक्री में लगभग 33 साल की लापरवाही हो रही है। बिक्री बढ़ने के पीछे त्योहारी सीजन एक बड़ा कारण था। यात्री वाहनों में नए लॉन्च के कारण देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी सहित कुछ संबद्ध प्राधिकरण की बिक्री में काफी कारण हुई है। टू- व्हीलर्स की बिक्री में भी तेजी आ रही है।

पिछले कुछ महीनों में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री भी मिली है। देश में 18 लाख से अधिक इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EV) का पंजीकरण है। ईवी की सबसे ज्यादा बिक्री वाले राज्य उत्तर प्रदेश, दिल्ली और महाराष्ट्र हैं। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 4,14,978 इलेक्ट्रिक वाहन पंजीकृत हैं। इसके बाद दिल्ली (1,83,074) और महाराष्ट्र (1,79,087) हैं। इसी मिशन और कच्चे तेल के आयात को कम करने के लिए केंद्र और राज्यों की ओर से EV को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए इन वाहनों को खरीदने वालों की ओर से सब्सिडी दी जा रही है। सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा में एक प्रश्न के उत्तर में बताया कि देश में 5,151 सार्वजनिक ईवी प्रमाणीकरण स्टेशन हैं। इनमें से सबसे अधिक तमिलनाडु (660) में हैं। दूसरे स्थान पर दिल्ली (539) है।

हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए एक चेतावनी दी है। पॉलिसी में कहा गया है कि हर साल जो भी व्‍यक्ति नई इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदेगा, उसे सब्सिडी मिलेगी। नए इलेक्ट्रिक व्हीकल के फ़ैक्टरी दामों पर 15 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाएगी। यह सभी प्रकार की सब्सिडी EV पर लागू होगी। इसमें टू-व्हीलर से लेकर इलेक्ट्रिक बसें तक शामिल होंगी। सबसे ज्यादा सब्सिडी इलेक्ट्रिक बस लेने वालों को मिलती है। सरकार ने कहा है कि शुरुआती 400 बसों की खरीद पर प्रति बस 20 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। अगर कोई व्यक्ति इलेक्ट्रिक कार खरीदता है, तो उसे एक लाख रुपये की सब्सिडी मिलेगी। हालांकि, यह शुरुआती 25,000 कारों के लिए लागू होगा।

amar-bangla-patrika

You may also like